मुसलमानों ने मंदिर पुरे क्यों नहीं तोड़े? मुर्तिया खंडित करके ही क्यों छोड़ दी?

उन्होंने जब मंदिर तोडे तब पूरे नहीं तोडे… ऐसा नहीं था कि पूरा नहीं तोड सकते थे… उन्होंने जानबूझकर कोई मंदिर पूरा नहीं तोडा। कहीं मूर्तियाँ भग्न की, कहीं खंडित की, किंतु पूरी नष्ट नहीं की।

उन्होंने मंदिर के अवशेष पूरे ढँके या छुपाए भी नहीं कभी। उन्हें पूरी तरह भग्नावस्था में हमारी आँखों के सामने रखा। ताकि हमें और हमारी आनेवाली पीढ़ियों को रोज अपमानित करते रहें, खून के आँसू रुलाते रहे, उनकी धाक और खौफ हमारे दिलों में ताजा रख सकें और हर रोज हर पल हर क्षण हमारे आत्मसम्मान, आत्मविश्वास, आत्मबल पर अप्रत्यक्ष चोट करते रहे!

वे चाहते तो क्या काशी में नन्दी को भग्न नहीं कर सकते थे? उन्होंने जानबूझकर ऐसा नहीं किया ताकि हम याद रखे नन्दीश्वर कहां है और रोज रोज तरसें, तड़पे और दर्शन की अभिलाषा लिए तिल तिल मरे!

बहुत भयानक होती है ऐसी मौत क्योंकि इसमें व्यक्ति नहीं उसका स्वाभिमान, धर्म और राष्ट्र मर रहा होता है। हर आक्रांता का परम आनंद होता है ऐसी मौत देखना।

उन्होंने कभी सोचा नहीं था कि यही अधमरे, आत्माभिमान शून्य लोग कभी एकत्रित हो जाएंगे और अपनी विरासत वापस मांगने लगेंगे।

उन्होंने कभी सोचा ही नहीं था कि उनके समाजिक और मानसिक स्तर पर इतनी चोट के बाद भी हम कभी संगठित हो पाएंगे!

उन्होंने सोचा ही नहीं था इन सोए मुरझाए लोगों को झकझोरकर जगाने कोई मोदी आएगा और फिर जो भग्नावशेष इन्हें अपमानित करने के लिए बाकी छोड़े थे वे ही उनके अत्याचारों की गवाही देने लगेंगे!

बहुत वर्षों के अपमान झेलने के बाद कोई आया है जिसने सनातन स्वाभिमान जगाया है, जिसकी वजह से नन्दी की पथराई आँखों में आशा की किरण जागी है, कोई आया है जिसने राष्ट्र में रामजी को वापस लाकर उन्हे उनका स्थान दिया है।

भूलना मत सनातनियो, उसको किसी कीमत पर मत खोना, उसकी कमजोरी नहीं उसकी ताकत बनकर अडिग खडे रहना।

उसने गारंटी दी है कि वो देश नहीं झुकने देगा, और मुझे पता है वो वचन का पक्का है। उसकी गारंटी की पूरी गारंटी है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top

AdBlocker Detected!

https://i.ibb.co/9w6ckGJ/Ad-Block-Detected-1.png

Dear visitor, it seems that you are using an adblocker please take a moment to disable your AdBlocker it helps us pay our publishers and continue to provide free content for everyone.

Please note that the Brave browser is not supported on our website. We kindly request you to open our website using a different browser to ensure the best browsing experience.

Thank you for your understanding and cooperation.

Once, You're Done?